रोजगार की संभावनाएं हैं बहुत आनलाइन मार्केटिंग में (Online Marketing opportunity)

0
1128

रोजगार की संभावनाएं हैं बहुत आॅनलाइन मार्केटिंग में

किसी भी समान की खरीदारी के लिए शोरूम या मॉल का विकल्प बन चुके आॅनलाइन पोर्टल्स काफी लोकप्रिय हो गए हैं। कुछ घंटों में आपका मनपंसद प्रोडक्ट आपके पास पहुंचाने का दावा करने वाली ये साइट्स दिनोंदिन बढ़ती जा रही हैं। मार्केटिंग की आॅनलाइन दुनिया में करियर पर एक रिपोर्ट देश में…….

आनलाइन यूजर्स की संख्या में पिछले वर्षों के मुकाबले काफी उछाल देखने को मिला है। अगर आनलाइन शॉपिंग की बात करें तो लगभग 2.5 करोड़ से अधिक लोग शॅपिंग कर रहे हैं। इस इंडस्ट्री का कारोबार आज लगभग 12 अरब डॉलर से ज्यादा का हो चुका है और साल 2020 तक इसके लगभग 75 अरब डॉलर तक पहुंचने की उम्मीद है। अगर सिर्फ भारत में आॅनलाइन मार्केटिंग कर रही साइट्स की ही बात करें तो अकेले ये करोड़ों—अरबों का बिजनेस/व्यापार कर रहीं हैं। जमी हुई साइटस ही नहीं बल्कि अपने इनोवेशन के साथ उतरी नई नवेली साइट्स भी आनलाइन कारोबार में अच्छा खासा मुनाफा कमा रही हैं। अगर भविष्य को लेकर ये आंकड़े सच साबित होते हैं तो भविष्य में आनलाइन मार्केटिंग के क्षेत्र की पूरी जानकारी रखने वाले लोगों की जरूरत होगी। इस मांग को पूरा करना शिक्षा क्षेत्र के लिए आसान नहीं होगा। कंपनियों को ऐसे लोगों की जरूरत होती है, जिन्हें आनलाइन कामकाज की पूरी समझ हो। भविष्य में पैदा होने वाली भारी मांग के चलते अद्योग के लिए इस क्षेत्र की जरूरतों के अनुरूप कुशल लोगों की टीम तैयार करना एक बेहद चुनौतीपूर्ण हो जाएगा।

रोजगार के क्षेत्र
आनलाइन मार्केंटिंग की दुनिया बेहद बड़ी है इसीलिए इसमें रोजगार की अपार संभावनाएं भी बहुत बनी हुई हैं। मसलन

  1.  ई—बिजनेस सलाहकार
  2. डेटाबेस एडमिनिस्ट्रेटर
  3. आपूर्ति चेन प्रबंधक
  4. कारोबार विश्लेषक
  5. परियोजना प्रबंधक
  6. कस्टमर रिलेशन प्रबंधक
  7. वेब डेवलपर
  8. सलाहकार
  9. टीम लीडर वहीं एक अच्छे एंटरप्रिन्योर का भी विकल्प है। इसके अलावा
  10. मार्केटिंग
  11. फाइनेंस
  12. लॉजिस्टिक्स
  13. वेयरहाउस
  14. ग्राफिक्स के क्षेत्र में जॉब के नए अवसर पैदा हो रहे हैं। आनलाइन साइट्स में करियर के कुछ विकल्प जो नीचे दियें गये हैं।

डेटा एनालिस्ट

आनलाइन मार्केटिंग करते इन पोर्टल में आॅनलाइन कस्टमर्स की बढ़ती संख्या और बढ़ते दायरे ने देश में डेटा एनालिसिस के काम को काफी तेजी से बढ़ाया है। दरअसल डेटा एनालिस्ट कंपनी के डेटा को न सिर्फ सुरक्षित रखते हैं, बल्कि उसका सही तरीके से विश्लेषण भी करते हैं। आॅनलाइन सेक्टर के बढ़ते दायरे की वजह से आने वाले वर्षों में इसमें और बेहतर मौके मिलेंगे। जो युवाओं के लिए काफी फायदेमंद साबित होगा।

लॉजिस्टिक सर्विस
आनलाइन मार्केटिंग करते इन पोर्टल के कारण लॉजिस्टिक्स को काफी तेजी से उभारने का मौका मिला है। एक ओर जहां पोर्टल में खरीदारी को आसान बनाना कम मुश्किल नहीं होता है, वहीं इन कंपनियों के लिए डिलीवरी भी किसी चुनौती से कम नहीं होती। तमाम आॅनलाइन शॉपिंग कंपनियां प्रोडक्ट्स बुकिंग तो आॅनलाइन करती हैं, लेकिन उस प्रोडक्ट्स की सही पैकिंग से लेकर ग्राहकों तक उनकी सुरक्षित डिलीवरी का सारा दारोमदार लॉजिस्टिक्स के कंधो पर ही होता है। इस सेक्टर में बुकिंग मैनेजर, प्रोडक्ट मैनेजर, कस्टर केयर एग्जिक्यूटिव, डिलीवरी बॉय जैसे तमाम पदों पर भर्ती काफी तेजी से हो रही हैं।

SMO यानि सोशल मीडिया आप्टिमाइजर
social media optimization यानी SMO के प्रमुख कार्य में सबसे महत्वपूर्ण होता है कि दुनिया भर में मौजूद सोशल मीडिया साइट्स के जरिए इन आॅनलाइन मार्केंटिग पोर्टल के लिए ट्रैफिक जुटाना यानी सोशल मीडिया के जरिए क्लाइंट वेबसाइट के लिए हिट्स बढ़वा कर रैकिंग में सुधार करना। यह काम निजी तौर पर किया जा सकता है तो किसी कंपनी से जुड़ कर भी। निजी तौर पर करने से फायदा यह होता है कि आप कई क्लाइंट लेकर अधिक पैसा कमा सकते हैं। कंपनी से जुड़े तमाम अपडेट्स को दुनियाभर में फैले उनके टारगेट आॅडियंस तक पहुंचाना ही एसएमओ का काम होता हैं।

एसएमएम सोशल मीडिया मैनेजर
सोशल मीडिया मैनेजर अपने ब्रांड के क्राइसिस सॉल्यूशन को भी बेहतर ढंग से सुलझाने में मदद करता है। यानी सोशल मीडिया मैनेजर का काम कस्टमर एवं क्लाइंट के बीच बेहतर संपर्क स्थापित करना है। ये अपने आॅनलाइन मार्केटिंग साइटस प्रभावी एवं औपचारिक तरीकों से प्रोमोशन में जुटे रहते हैं। ये टू वे कम्युनिकेशन का काम करता है। अपनी कंपनी के लिए सही चैनल तलाशता है, फिर अपने प्रोडक्ट को अर्थपूर्ण योजना के साथ लोगों के सामने पेश करता हैं सोशल मीडिया मैनेजर न्यू मीडिया के तहत आता है। सोशल मीडिया मैनेजर की मांग को देखते हुए कई संस्थानों ने इसके लिए बाकायदा अलस कोर्स भी शुरू किए हैंं जो एक बेहतर विकल्प हैं।

कोर्स
इस कोर्स में बिक्री और इंवेंट्री प्रबधंन व कस्टमर सर्विस एवं विपणन जैसे विषयों की पढ़ाई की जाती है। हालांकि विभिन्न संस्थानों के कोर्स के पाठयक्रम अलग—अलग हो सकते हैं। इसके अलावा ई—बिजनेस सुरक्षा, खरीद, ग्राहक सेवा, लॉजिस्टिक, बिक्री बाद की सेवाएं भी कोर्स में शामिल हैं।

योग्यता
ग्रेजुएट कोर्स के लिए इंटरमीडिएट 50 फीसदी अंकों के साथ उत्तीर्ण होना चाहिए। वहीं पोस्टग्रेजुएट में प्रवेश के लिए छात्र को एक ग्रेजुएट डिग्री या नियमों के तहत स्थापित किसी विश्वविद्यालय व कॉलेज या किसी अन्य संस्थान से उसके समकक्ष कोर्स उत्तीर्ण किया हो।

सैलरी
सैलरी इस बात पर निर्भर करती है कि आपने किस कोर्स को उत्तीर्ण किया है। ग्रेजुएट छात्र जहां 25—30 हजार रूपये महीने कमाते हैं, वही परास्नातक जैसे एमबीए के बाद छात्रों को मासिक 30—50 हजार रूपये तक वेतन मिलता है/मिल रहा है।

भारत की स्थिति
भारत में आनलाइन मार्केटिंग का बाजार 2021 तक लगभग 76 अरब के पास या इससे उपर पहुंचने का अनुमान है और उस समय इस क्षेत्र में लगभग 14 लाख रोजगार पैदा होंगे। बीते दो साल में भारत का ई—कॉमर्स बाजार 60 करोड़ डॉलर से बढ़कर 2.3 अरब डॉलर तक पहुंच गया हैं
2020 तक इस बाजार के 32 अरब डॉलर तक पहुंचने का अनुमान है। फिलहाल भारत के इस कारोबार पर फिल्पकार्ट और स्नैपडील जैसी बड़ी कम्पनियों का वर्चस्व बना हुआ है। और अगर विदेशी कम्पनी की बातें करें तो ईबे, एमेजॉन आदि भी यहां कारोबार कर रही हैं। शोध कंपनी नीलसन ने भी इस बात को माना है कि भारत के अग्रणी बिजनेस स्कूलों के एक चौथाई एमबीए छात्र पारंपरिक सलाहकार और वित्तीय सेवा क्षेत्र की नौकरियों की तुलना में आॅनलाइन मार्केटिंग के क्षेत्र को वरीयता देंगे    |

Previous articleCeramic Engineering (सेरेमिक इंजीनियरिंग)
Next articleProcessed Meat (डिब्बाबंद मांस)
BigBatter एक अन्तराष्ट्रीय न्यूज साइट है। यहॉ आप देश और दुनिया की तमाब छोटी और बड़ी खबरों के साथ—साथ बहुत से आर्टिकल पढ़ सकतें हैं। जैसे— Fitness, Lifestyle, Jokes, Bollywood, Hollywood, Spiritual, Gadgets और बहुत कुछ। तो आज ही BigBatter को Subscribe करें और पाएं सबसे पहले न्यूज की Notification सीधे अपने मोबाइल डिवाइस पर। या फिर आप BigBatter का Play Store से App भी Download कर सकतें हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here